दुनियाँ की सेनाओ की सबसे खतरनाक ट्रेनिंग प्रैक्टिस – Training of Top 10 Army of the world

दुनियाँ की सेनाओ की सबसे खतरनाक ट्रेनिंग प्रैक्टिस – Training of Top 10 Army of the world

क्या होता है सबसे खतरनाक सैनिक अभ्यास, कैसे करती है दुनियां की सेना – Army यें सबसे खतरनाक मिलिट्री प्रैक्टिस, संसार की सबसे कठिन व् मुश्किल सैनिक अभ्यास कौन से है? इन्ही सबसे सवालों के जवाब मिलेंगे आपको आज की हमारी इस पोस्ट में, आइयें जानते हैं इनके बारे में :

Handcrafted Wedding Designer Gold Plated Golden Kundan and Pink Pearl Metal Indian Earrings

Imported Fashionable Women and Girls Excellent Design Pearls Flower and Stone Work 3 Color Ring for any Occasion

अपने देश की सेना – Army  से जुड़ना न सिर्फ गर्व की बात है, बल्कि किसी व्यक्ति के लिए खास होने का प्रमाण भी है। पठानकोट पर हुए हमलो के जवाब में भारतीय सैनिकों का मुंहतोड़ जवाब इस बात का प्रमाण है कि सैनिकों में अपने देश के लिए मर मिटने का जज्बा होता है। मगर क्या कभी आपने सोचा है कि सेना – Army  में भर्ती होने के लिए किन-किन परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है? दुशमनों से लोहा लेना मुश्किल है और उन्हें धूल चटाना और भी मुश्किल, मगर दुनिया भर में सेना – Army एं अपने सैनिकों की कुछ ऐसी परीक्षाएं लेती हैं जो उन्हें लोहे से भी ज्यादा फौलादी बनाती हैं। तो आइए, देखते हैं सेना – Army  में भर्ती के लिए कौनसे देशों में कैसी परीक्षा ली जाती हैं:

  1. जिंदा ग्रेनेड से “Hot Potato”खेलना

Country : चीन

चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी में सैन्य अभ्यास का स्तर ही अलग होता है। उनके एक अभ्यास में सैनिकों को जिंदगी और मौत का खेल खेलना होता है। बचपन में “Hot Potato”या “Passing the Pass”तो खेला ही होगा। बस वही खेल है जिसमें आपको पास करना है जिंदा ग्रेनेड। एक से दूसरे सैनिक तक यह तब तक पास होगा जब तक आखरी सैनिक उसे जमीन में फटने से पहले दबा न दे। है न खतरनाक…

  1. छाती में गोली खाना

Country : रूस

रूस की स्पेशल फोर्स की ट्रेनिंग का एक हिस्सा है जिसमें सैनिक एक-दूसरे को छाती में गोली मारते हैं। इसके पिछे विचार यह कि उन्हें सीने में गोली खाने के लिए तैयार किया जा सके। हालांकि उन्हें गोली सुरक्षा जैकेट के साथ मारी जाती है, लेकिन फिर भी कुछ सैनिक घायल हो जाते हैं। घायल होने के बाद भी सैनिक को खड़े होकर जवाबी हमला करना होता है। ऐसे हमले उनसे तनावपूर्ण माहौल में भी करवाए जाते हैं ताकि उनकी मानसिक स्थिति की जांच की जा सके।

Imported Fashionable Women and Girls Excellent Design Pearls Flower and Stone Work White Ring for any Occasion

Latest Fashionable Pearl Zircon Metal Base Bangles for Women and Girls – 8 Bangles

  1. आग की गोलों के बीच से कूदना

Country : रूस

चीन में सैनिकों को आग के गोलों के बीच में से कूदने की ट्रेनिंग दी जाती है। पूरे कपड़ों और हाथ में राइफल लिए सैनिकों को वास्तविक स्थिति बना कर दी जाती है ताकि वह जरूरत पड़ने पर यह साहसिक कदम उठा सके।

  1. Drown proofing ट्रेनिंग

Country : अमेरिका, नेवी सील्स

अमेरिकी नेवी सील्स का हर अभ्यास ही खौफनाक होता है, लेकिन खासतौर पर यह उनमें भी अलग है। इसमें ट्रेनिंग ले रहे सैनिकों को भयंकर यातना दी जाती है। उनके हाथों और पैरों को आपस में बांध कर बर्फीले पानी में छोड़ देते हैं। इस दौरान उन्हें उछल के नीचे से उपर कम से कम 20 बार आना होता है, वो भी पांच मिनट में। साथ ही उन्हें पानी में समरसॉल्ट मारना भी सिखाया जाता है। यातना यहीं खत्म नहीं होती। ट्रेनिंद के दौरान इन पर हमला भी होता है, जिससे उनकी क्षमता – Capacity  को प्रखर किया जा सके।

  1. कंक्रीट की पट्टियों को सिर से तोड़ना

Country : चीन और कोरिया

कई देश की सेना – Army ओं में बैंड, सिंगर, खिलाड़ी आदि होते हैं, लेकिन चीन और कोरिया के सेना – Army ओं में ऐसे लड़ाके हैं जो अपनी पीठ पर बंबू के डंडे झेल सकते हैं और सिर से कंक्रीट की मोटी पट्टियां तोड़ने की क्षमता – Capacity  रखते हैं। अगर सेना – Army  में सिर्फ ताकत दिखाने की बात होती तो शायद चीन की सेना – Army  को कोई टक्कर न दे पाता। लेकिन सैन्य क्षमता – Capacity  इससे भी कई अधिक अलग जीवट की मांग करती है।

Latest Stylish and Modish Gold Plated Bangles for Women and Girls

Latest Trendy and Stylish Golden Bangles for Women and Girls – 4 Bangles

  1. कोबरा का खून पीना

Country : अमेरिकी मरींस

वो दिन गए जब पुश-अप करना से आप टफ बन जाते थे। असली टफ बनना है तो यू.एस. मरींस से मिलिए। ये कोबरा का खून पीते हैं। जिंदा चिकन के सिर को अपने दांतों से अलग करते हैं। जी ये सब इनकी ट्रेनिंग का हिस्सा है। पहले इन्हें कोबरा को मारना सिखाया जाता हैं। फिर कोबरा का खून पीने की ट्रेनिंग दी जाती है। साथ ही कोबरा की पूंछ भी खाने की ट्रेनिंग मिलती है। माना जाता है कि ऐसी ट्रेनिंग जंगलों में जीने के काम आती है।

  1. संतुलन जांचने के लिए आग पर चलना

Country : बेलारूस

बेलारूस के विशेष अंदरुनी दल के सैनिक काफी टफ होते है। अपनी क्षमता – Capacity  को साबित करने के लिए इन लोगों एक के बाद एक भीषण अभ्यास के दौर से गुजरना पड़ता है। इस टेस्ट में सबसे पहले 10 किलोमीटर को दौड़, फिर भीषण हमले के बाद दूसरे सैनिक से दो-दो हाथ और फिर एक्रबैट्स कराया जाता है। साथ ही कार का टायर पर इनका बैलेंस चेक किया जाता है, जो आग से निकलता है।

  1. स्काईस्क्रैपर से कूदना और साइड में लटकना

Country : इस्राइल

यदि कभी किसी आतंकी ने तल अवीव स्काईस्क्रैपर पर बंधक बनाने की कोशिश की, तो आखरी सोच उसकी होगी कि आतंक-निरोधी दस्ते से कोई सिपाही इमारत से कूद कर उसे पकड़ ले। इसके प्रशिक्षण के दौरान सिपाही वो सब कुछ रोक देते हैं जो उन्हें रोकता है। सारा ध्यान खिड़की और नकली आतंकी की हलचल पर होता है। इस इमारत में 49 मंजिलें हैं

Latest Trendy and Stylish Multicolor Bangles for Women and Girls – 4 Bangles

Lovable Gleaming Peacock with Four Strings Gold Plated Necklace Set For Women and Girls

  1. नुकिले और खुरदरे पत्थरों और चट्टानों पर रेंगना

Country : ताइवान

‘रोड टू हैवन’ ताइवान की मौसेना – Army  की नौ सप्ताह की भीषण शारीरिक ट्रेनिंग आखरी पड़ाव होता है। लेकिन नाम पर न जाइए जनाब। यह ‘हैवन’ कुछ और ही है। इसमें सिपाही को 50 मीटर लंबे पत्थरीले रास्ते से लेट कर रेंग कर निकलना पड़ता है। नंगे बदन पर खुरदरी चट्टानों के भयंकर घाव हो जाते हैं।

  1. धुंए के मोटे गुब्बारों के बीच घुड़सवारी करना

Country : नीदरलैंडरॉयल गार्ड

कई देशों में सैनिकों को जानवरों के साथ ट्रेनिंद करने के लिए कहा जाता है। नीदरलैंड के रॉयल गार्ड ऑफ ऑनर के सैनिकों को धुंए के मोटे गुब्बार के बीच घुडंसवारी करनी होती है। इसके लिए खास धुंआ फैलाने के लिए बम फोड़े जाते हैं। साथ ही इसका प्रदर्शन बजट पेश करने से पहले भी किया जाता है।

Modern Beautiful and Stylish Black Flower and Leaf Design Double Finger Ring for Women and Girls

Modern Beautiful and Stylish Blue Round Shape Flower and Leaf Design Double Finger Ring for Women and Girls

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *