A Loving Kid and Son Pari , एक प्यारा बच्चा और सोन परी

A Loving Kid and Son Pari – एक प्यारा बच्चा और सोन परी

एक परी (angel) थी। उसका नाम सोन था। वह बहुत सुंदर (beautiful) थी। उसके पास एक जादुई छड़ी (magic stick) थी। उस छड़ी से सोन परी मनचाहा काम कर सकती थी। सोन परी (Sona Pari) को बच्चे बहुत अच्छे लगते थे। वह बच्चो के साथ खेलती (playing with childrens) और मदद भी करती थी।

एक दिन सोन परी (Sonal Pari) उड़ते हुए एक झील के किनारे पहुँचीं। वहाँ एक अकेला बच्चा (sitting sad) उदास बैठा हुआ था। सोन परी उसके पास गईं। उसने बच्चे से उसका नाम व उदासी (reason of sadness) का कारण पूछा। बच्चे ने कहा “मेरा नाम chintu है, मै अपने भाई-बहनों (brother and sister) के साथ यहाँ आया था। वे घूमते हुए आगे निकल गए और मै पीछे (stay behind) रह गया। मुझे अपने घर का रास्ता (way ot house) भी पता नहीं है।

यह सुनकर सोन परी ने chintu के सिर पर हाथ फेरते (hand on his hairs) हुए कहा “तुम मेरा बाया हाथ (hold my hand) पकड़ लो। चलो, पहले तुम्हारे भाई-बहन को ढूढेंगे। फिर तम्हारे घर (house) चलेगे।

chintu ने तुरंत सोन परी (Sonal Pari) का हाथ पकड़ लिया। सोन परी CHINTU को लेकर उड़ चली। कुछ दूर उड़ने पर जंगल (jungle) में एक बड़े पत्थर (stone) के ऊपर CHINTU के भाई-बहन बैठे हुए दिखाई दिए। वे दोनों वही उतर गए। CHINTU अपने भाई-बहनों से मिलकर बहुत खुश (very happy) था। वे सभी भूखे (hungry) और प्यासे थे। सोन परी ने अपनी जादुई छड़ी (magic stick) घूमाई। ऐसा करते ही वहां पर अनेक स्वादिष्ट  पकवान (delicious food) जैसे- मिठाइयां, चोकलेट, फल व जूस (juice) आदि आ गए। सभी बच्चों ने छककर खाया। फिर सोन परी (Sonal Pari) के साथ छुपम-छुपाई (played) खेलने लगे।

शाम (evening) होने लगी थी। अतः सोन परी ने अपनी छड़ी एक बार फिर हवा (stick in air) में घुमाई। वहां पर एक उडनखटोला आ गया। सभी उसमें बैठ (sit) गए। परी का आदेश (signal) पाते ही उडनखटोला CHINTU के घर की चल दिया। कुछ ही देर में वे घर पहुँच गए। परी ने बच्चों को घर के आंगन (garden in the house) में उतार दिया। घर पहुँचने पर सभी बच्चे बहुत (childrens were happy) खूश थे। उन्होंने सोन परी को धन्यवाद (thanks) दिया। परी ने सभी बच्चों को उपहार में एक-एक चोकलेट (chocolate) दी और वहां से उड़ चली।

नोट :- आपको ये पोस्ट (post) कैसी लगी, कमेंट्स बॉक्स (comment box) में जरूर लिखे और शेयर करें, धन्यवाद thanks- (आखिरी काम !)

Kahani, kahaniya, hindi kahaniya, hindi kahani, stories in hindi, kahaniyan, motivational and inspirational kahaniya

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *