Sheikh Chilli chale Lakdiyan Kaatne , शेख चिल्ली चले लकड़ीयां काटनें

Sheikh Chilli chale Lakdiyan Kaatne  ,  शेख चिल्ली चले लकड़ीयां काटनें

एक बार मियां शेख चिल्ली अपने मित्र (friend) के साथ जंगल में लकड़ियाँ (wood) कांटने गए। एक बड़ा सा पेड़ देख कर वह दोनों दोस्त (both friends) उस पर लकड़ियाँ काटने के लिए चढ़ गए। मियां शेख चिल्ली अब लकड़ियाँ काटते-काटते (start cutting thw wooden) लगे अपनी सोच के घोड़े दौड़ने। उन्होने सोचा कि मै इस जंगल (jungle) से ढेर सारी लकड़ियाँ काटूँगा। उन लकड़ियों को बाज़ार में अच्छे (sell in market) दामों में बेचूंगा। इस तरह मुझे काफी धन-लाभ (money gain) होगा।

इस काम से मै कुछ ही समय में अमीर (rich in less time) बन जाऊंगा। फिर लकड़ियाँ काटने के लिए ढेर सारे नौकर (so many employess) रख लूँगा। काटी हुई लकड़ियों से फर्नीचर का बिज़नस (business of furniture) शुरू करूंगा। कुछ ही दिनों में मै इतना समृद्ध व्यापारी (rich businessman) बन जाऊंगा की नगर का राजा मुझ से राजकुमारी का विवाह (married with princess) करवाने के लिए खुद सामने से राज़ी हो जाएगा।

शादी के बाद हम घूमने (honeymoon) जायेंगे और एक सुन्दर सी बागीचे में राजकुमारी अपना हाथ (her hand) मेरी तरफ बढ़ाएंगी…. ख़यालों में खोये हुए मियां शेख चिल्ली ऐसा सोचते-सोचते (thinking on tree) पेड़ की डाल छोड़ कर सचमुच राजकुमारी का हाथ थामने के लिए अपने हाथ आगे (going forward) बढाने लगते हैं…तभी अचानक उनका संतुलन बिगड़ (imbalance) जाता है और वो धड़ाम से नीचे ज़मीन पर (fall on land) गिर पड़ते है। ऊंचाई से गिरने पर मियां शेख चिल्ली के पैर (broke his foot bones) की हड्डी टूट जाती है। और साथ-साथ उनके बिना सिर-पैर के खयाली सपनें (all dreams shattered) भी टूट कर बिखर जाते हैं।

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *